स्वच्छ भारत अभियान हेतु एक पहल

dust.jpeg

यह सच है की भारत एक अव्यस्थित देश रहा हैं परन्तु यह भी यह सत्य है की इसी प्रयोगशाला से सीख कर यूरोप और एशिया के तमाम बड़े शहर अपने बड़े बड़े शहरों को आधुनिकता से लैस कर पाए और दुनिया में अपने उन्नति का लोहा मनवा रहे है, फिर भारत विशाल हृदय लिए चटान की तरह निर्मल और स्वच्छ हैं |

देश ने यह स्वयं साक्षात्कार किया है की महात्मा गाँधी से लेकर नेहरू, इंदिरा और वर्तमान में नरेंद्र मोदी तक हम सबने पर्यावरण हेतु कभी ग्रीन इण्डिया, क्लीन इंडिया, शाइन इंडिया तो अब स्वच्छ भारत तक एक लम्बी कड़ी स्वच्छता के लिए किया है, भारत के उन तमाम बड़े शहरों, महानगरों से लेकर छोटे गांव कस्बों तक के नालों- नालियों व् परनालों और नदियों – नहरों में गिरने वाली गंदगी के ढ़ेर को सरकार ने बुनियादी जरूरतों को पूरा करने का भरषक प्रयास किये हैं और यह  निरतर जारी भी हैं |

आज सोशयल मिडिया पर मैंने एक तस्वीर देखी जो इस लेख के साथ संलग्न है, में शहर का एक नाला किसी पानी के बड़े नाले से मिल रहा है जहां शहर से आने वाले नाले को उसके गिरने के स्थान पर पाइप चौड़े मुहं में जाली की बोरी बांध रखी है जिससे की शहर से आने वाले कचरे जिसमे प्लाटिक की खाली बोलते, स्नेटरी पैड, डायपर, दवाओं के रैपर, प्लास्टिक की थैलियां, इत्यादि इत्यादि जो सड़ गल नहीं सकती और जो पर्यावरण के लिए नुकसान दायक होंगीं, को एक जाल वाले बोरे में छान लिया है जिसे पुनः रीसायकल भी किया जा सकता है और साथ ही पर्यावरण को एक बड़े नुकसान से बचाया भी जा सकता हैं |

उपरोक्त चित्र अपने आप में पर्यावरण के लिए एक बड़ी सोच और शहरी व्यवस्था हेतु सरकार की तरफ से पर्यावरण इंतज़ाम की त्तपरता का एक बेहतर उदाहरण हैं | ऐसी सरकारें और ऐसे शहरी वाकई बधाई और धन्यवाद के पात्र हैं |

हमारी भारत सरकार अपने अथक प्रयासों से सराहनिय कार्य कर रही है, परन्तु यदि  इस तरह के इंतज़ाम भी किये जाये तो शायद हमे पर्यावरण को सुरक्षित रखने में और बड़ी जीत हाशिल हो सकती हैं |

निवेदक
अधिवक्ता राजीव यादव
नई दिल्ली , भारत

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s