यमुना नदी का सुंदरीकरण से होगा दिल्ली का चहुमुखी विकास

विषय : यमुना नदी का सुंदरीकरण से होगा दिल्ली का चहुमुखी विका

आज दिल्ली में यमुना नदी कि हालत एक गंदे नाले से बतर है, जो यमुना दिल्ली कि कामधेनु है उसको नाले में बदले के लिए जिम्मेदार लोग और सरकारी विभागो को किसी भी तौर पर ना वख्शा जाये जैसे यह हो रहा है ।

१. दिल्ली में मांश का व्यापार करने वाले जानवर का बचा हुआ कचरा किसी न किसी तरह से यमुना में डालते है ।

२. दिल्ली में चमड़े और कपडा कलर वाशिंग का काम करने वाले खुली छूट के साथ पानी का दोहन करते है और नाजायज तरीके से उसको नालो के जरिये यमुना तक पहुचते है ।

३. दिल्ली में चलने वाली छोटी बड़ी फैक्ट्रियां अपना पाप इन्ही नालो में छुपा कर यमुना तक डाल देते है

४. सबसे जयादा अगर किसी ने यमुना का जमीनी तौर पर दोहन किया है तो वह है खनन माफिया जिसने बालू/ रेत कि खातिर यमुना को अंदर तक खोखला कर दिया है ।

५. खुले शौचालयो और घरो का मलवा इन्ही नालो के माध्यम से बड़े नाले जो यमुना नदी है में गिरा कर सरकारी तंत्र अपना बोझ हल्का कर लेता है।

देश कि राजधानी दिल्ली कि यमुना के लिए यह है मेरा सपना ।

१. देश कि राजधानी दिल्ली में आते ही लोग यमुना नदी कि गोद में बोट राइडिंग करते अपने बच्चो के साथ पिकनिक मानते जैसे कि हम गोवा या मुम्बई के बीच पर जाकर इन जगहो कि प्रसंशा करते है ।

२. नैनीताल कि झीलो कि तरह पर्यटन करते विदेशी भी इंग्लैंड और बाली कि तरह यमुना में नहाते और पानी पीकर कहते “भारत वाकई महान देश है”

३. गुजरात कि सावरमती नदी कि तरह निर्मल यमुना के किनारे लोग अपनी यादे तारो ताजा करते ।

४. हमारी दिल्ली जो आज बिजली के लिए रो रही है इसी यमुना से इतना बिजली पैदा होता कि लोगो बिजली बिल एडवांस टैक्स कि तरह भरते ।

५. पानी कि किल्लत से जूझ रही दिल्ली यमुना को जीवन दायनी गंगा मानती।

मैं आम आदमी हूँ अपना सपना आपके साथ जोड़ रहा हूँ

“काश मेरे बच्चे दिल्ली शहर के बीचो बीच यमुना का खुबसूरत चेहरा देख पाते और हम बुजुर्ग अपनी तन्हाई को निर्मल यमुना को साक्षी बना पाते”

मैं आशा करता हूँ कि आप थोडा समय लेकर विचार करेंगे

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s